पांचौली मे हुई घटना को लेकर भाजपा मे आक्रोश , भाजपा कार्यकर्त्ताओं को बनाया जा रहा निशाना

जीतेन्द्र मीना ( करौली ) , 31 दिसंबर 2021 । मंडरायल के गाँव पांचौली मे 7 दिन पहले हुई घटना को लेकर आज शुक्रवार को भाजपा जिलाध्यक्ष बृजलाल डिकोलिया ,डां. किरोडीलाल मीना व पीडित परिवार जिला कलेक्टर व एस पी को ज्ञापन देने करौली कलेक्ट्रेट पहुचे जहाँ उन्होने ज्ञापन दिया ।

पांचौली गाँव मे पंचायत समिति सदस्य द्वारा निकाले जा रहे विजय जुलूस के दौरान दो पक्षों मे झगड़ा हो गया । झगडे मे 1 बालिका सहित 3 लोग घायल हुए थे । घायलों को मंडरायल चिकित्सालय मे भर्ती करवाया गया जहा से उन्हे करौली रेफर किया गया ।

अत्याचारों के खिलाफ अबकी बार लडाई " करो या मरो " के साथ : डां किरोडीलाल मीना 

डां किरोडीलाल मीना ने धरने के दौरान बताया की पीडित परिवार के मुखिया अमरसिंह भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष रह चुके है व साफ सुथरी छवि के व्यक्ति है । पीडित परिवार ने सीधा सीधा आरोप विधायक जो की वर्तमान मे राजस्थान सरकार मे पंचायती राज मंत्री है रमेश मीना का नाम लिया है । वही डां किरोडीलाल मीना ने भी कहा है की जो भी घटना हुई है वह बदले की भावना से जानबूझकर घटना को अंजाम दिया गया है । 

डां मीना ने कहा की सपोटरा में जो दमनकारी घटनाएँ चल रही है राजनैतिक सरंक्षण में जो गुण्डागर्दी चल रही है निशाना बनाकर भाजपा कार्यकर्त्ताओं को मारा पीटा जा रहा है । क्षेत्र मे जो अपराधिक घटनाएँ बहन बेटियों के बलात्कार जैसी घट रही है उनके खिलाफ पुलिस कोई कार्यवाही नही कर रही है । डां किरोडीलाल मीना के कहा की अमरसिंह को गुंडों ने घर से उठाया और मारा पीटा, इस पर अमरसिंह ने बताया की उनको इतना मारा की बैठने मे भी परेशानी आ रही है । ड़ा मीना ने पुलिस और बिजली के कर्मचारियों को इस गम्भीर अपराध मे शामिल बताया । 


उन्होने कहा की पुलिस की जानकरी मे सब कुछ था , लेकिन पुलिस का साइरन बजता रहा और पुलिस गुंडो की मदद करती रही । डां मीना ने कहा की वह अभी सिर्फ कलेक्टर और एसपी को ज्ञापन देंगे और कार्यवाही ना होने पर वह खुद परिवार के 4 लोगों के साथ 8 जनवरी से सपोटरा थाने के सामने धरने पर बैठेंगे । उन्होने अन्याय की इस लडाई को लड़ने के बारे मे सीधा कहा है इस बार लडाई " करो या मरो " के साथ होंगी । ड़ा मीना ने कहा की माननीय मंत्री महोदय बदले की भावना से घटनाओं को अंजाम दे रहे है अब हमारा धैर्य टूट गया है अब सीधे करो या मरो की लडाई लडनी है ।

Post a Comment

0 Comments